किसानो का गेहूँ बेचने के लिये ऐसे करना है Registration - Perfect Knowledge - A Good Learner

Latest

Tricks for Whatsapp, Facebook, YouTube channel, android tips or tricks, latest information, useful tools, cyber tips and tricks on this Website learn by perfect knowledge learner

किसानो का गेहूँ बेचने के लिये ऐसे करना है Registration

LockDown चल रहा है और किसान अपने गेहूं बेचने को मजबूर हैं उन्हें अपना गेहूं सरकारी समिति पर बेचना है और उसके लिए उन्हें रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता है रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और सरकार गेहूं खरीदने का कार्य शुरू कर चुकी है जिन किसानों को अपने गेहूं बेचने हैं बे उत्तर प्रदेश के खाद्य एवं रसद विभाग की एक आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से खुद को गेहूं की खरीद हेतु पंजीकृत करें और तब जाकर वह अपने गेहूं की बिक्री कर सकते हैं तो आज का लेख इसलिए लिखा गया है किसान को कहीं जाने की जरूरत नहीं है वह यह काम अपने मोबाइल से ही कर सकता है और वहां प्रिंटआउट जमा कर सकता है चलिए मैं आपको बताऊंगा कि आपको गेहूं बेचने के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करना है तो दोस्तों चलिए मैं आपको बताता हूं

  • किसानो का गेहूँ बेचने के लिये Registration

1. सबसे पहले आपको क्लिक करना है नीचे लिंक पर 
2. उसके बाद आपको अपना मोबाइल नम्बर डालना है और Captcha भरना है 


3. उसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुल जायेगा जिसे आप बहुत ही सावधानी से भर सकते हैं 





4. उसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर दे 
यदि आपसे कोई गलती हो गयी है तो आपको स्टेप 4 पर क्लिक करके संशेधन करना है 

5. अगर कोई गलती नहीं है तो स्टेप 5 पर क्लिक करके मोबाइल नम्बर डाले और लॉक करे पर क्लिक करे 

6. उसके बाद ओ० टी० पी० डालकर Final Submit कर दे

7. उसके बाद स्टेप 6 मे जाकर पंजीकरण फाइनल प्रिंट पर क्लिक करो 


आपका पंजीकरण हो जायेगा और यदि कोई परेशानी आये तो आप मुझे Comment करके पूछ सकते हैं मैं आपके हर एक प्रश्न का उत्तर देने की कोशिश करूंगा 

  • किसान पंजीकरण से सम्बंधित आवश्यक बाते



1. किसान पंजीकरण हेतु आवेदन करने के लिए स्टेप 1 से लेकर 6 तक सभी का पालन करना अनिवार्य है 
2. कृपया ऑनलाइन किसान पंजीकरण करने से पहले पंजीकरण प्रारूप डाउनलोड करके प्रिंट की जांच करके आवश्यक सूचनाएं भर ले 
3. किसान पंजीकरण में फसल हेतु उपयोग की जाने वाली सभी जानकारियों का विवरण देना अनिवार्य है 
4. भूमि विवरण के साथ खतौनी या खाता संख्या भूमि का रकबा और फसल का रकबा अनिवार्य है 
5. आधार कार्ड बैंक पासबुक व राजस्व अभिलेखों का विवरण दर्ज करने के पश्चात आप ऑनलाइन आवेदन दर्ज करें
6. पंजीकृत ड्राफ्ट में दर्ज सभी बिंदुओं का पुनः निरीक्षण कर लें 
7. मोबाइल संख्या देकर पंजीकरण ड्राफ्ट प्रिंट किया जा सकता है 
8. आवेदन में दर्ज सभी बिंदुओं का निरीक्षण करने के बाद यदि किसी संशोधन की आवश्यकता है तो स्टेप 4 पर पंजीकरण संशोधन पर क्लिक करके मोबाइल संख्या देकर आवेदन में संशोधन किया जा सकता है 
9. यदि आवेदन का निरीक्षण करने के बाद कोई त्रुटि नहीं पाई जाती है तो स्टेप 5 पंजीकरण लॉक के विकल्प से आवेदन को लॉक कर दें 
10. आवेदन लॉक हो जाने के बाद उसमें किसी भी प्रकार का कोई संशोधन किसी भी स्तर से संभव नहीं होगा
11. आवेदन लॉक हो जाने के बाद स्टेप 6 पंजीकरण फाइनल प्रिंट के विकल्प से आवेदन का फाइनल प्रिंट लेकर सुरक्षित रख लें 
12. इस वर्ष सरकार द्वारा ओ० टी० पी० आधारित पंजीकरण की व्यवस्था की गई है इसके लिए किसानों को पंजीकरण के समय अपना मोबाइल नंबर ही अंकित कराएं और प्रेषित ओ० टी० पी० को भरकर पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा किया जा सके 
13. 100 कुंतल से अधिक विक्रय हेतु उप जिलाधिकारी से सत्यापन कराया जाएगा चकबंदी के ग्रामों में बेची जाने वाली मात्रा का शत-प्रतिशत सत्यापन कराया जाएगा 
14. किसान अपने खतौनी में दर्ज का नाम का पंजीकरण में सही-सही दर्ज कराएं खतौनी में उल्लेखित समस्त नामों में अपना नाम चुने और नाम से भिन्नता की स्थिति में उप जिलाधिकारी द्वारा सत्यापन किया जाएगा 
15. अपना आधार संख्या अपना नाम और लिंग सही-सही भरें अपना बैंक खाता एवं आईएफएससी कोड भरने में विशेष सावधानी रखें 
16. भुगतान पी० एफ्० एम० एस० के माध्यम से त्वरित हो सके इसके लिए किसानों से अपील है कि वह अपने एकल खाते का ही नंबर पंजीकरण के समय दें 
17. जो किसान धान की खरीदी हेतु पंजीकरण करा चुके हैं उन्हें इस बार पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है
18. गेहूं विक्रय के समय पंजीकरण प्रपत्र के साथ कंप्यूटराइज्ड खतौनी, फोटोयुक्त पहचान पत्र और बैंक की पासबुक के पहले पेज की कॉपी लेकर अवश्य जाएं 
19. गेहूं विक्रय के समय किसान अपने पंजीकरण का प्रपत्र अवश्य लेकर जाएं पंजीकरण प्रपत्र में यह देख लें कि उनकी गेहूं की मात्रा 100 कुंतल से अधिक होने पर, नाम का मिशमैच होने पर या चकबंदी ग्राम होने पर उप जिलाधिकारी से सत्यापन होगा साथ ही यह भी देख ले कि पंजीकरण में पी० एफ० एम० एस० से बैंक खाता सत्यापित हो गया है 
20. गेहूं विक्रय के उपरांत केंद्र प्रभारी से पावती पत्र अवश्य प्राप्त कर लें

No comments:

Post a Comment